कुछ हाल ही में गुज़रा है, फर्राटे से बगल से,
धूएं की उस झिल्ली के पीछे, शायद वो बचपन था।

Advertisements