खुद अपनी महफ़िल जमा लेते है अर्ज़ कर,
हाल ए दिल कुछ सवांर लेते है दर्द बाट कर।

Advertisements