ख्वाइश तुझसे गुफ़्तगू की दिल में बनी रहती है,
बातें ना कर, ना सही, इसका इलाज तो करदे।।

Advertisements