दुःख तो बहुत है तेरे दुर आचरण का,
पर दर्द ए दिल की दावा भी तुझे याद करना ही है||

Advertisements