सराबोर जो हो तुम इतना,
रंग-रोगन -ए- गम में,
क्या इश्क़ में गम है, या
गम से इश्क़ हो गया है ?

Advertisements