पानी की वो बूंदे बेपनाह मोहब्बत का सुबूत हैं,आंसू नहीं
वरना बददुआओं में इतना ज़ोर कहाँ, जो आशिकों से टकरा जाएँ||

Advertisements