कुछ आवाक रह गया, कुछ हैरान हो गया,
तेरी मुस्कान के नशे में, तेरी इनयतों की दिलकशी में||

Advertisements