तसव्वुर में भी कोशिशों पर, तेरा दीदार न हो सका,
जाने मेरी इन बेचैनियों का, आखिरी अंजाम क्या है।।

Advertisements