मिट जाती सारी ख़लिश तेरे बगैर गुज़ारे वक़्त की,
बस एक बार जो तुझे, मेरा ख्याल आया होता।।

Advertisements